उत्तर बिहार को जल्द ही रेलवे बड़ी सौग़ात देने जा रही है, जहां पहली बार दरभंगा होकर राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन चलाई जायेगी। इसको लेकर प्रस्ताव रेलवे बोर्ड को भेजा जा चुका है, जहां से मंज़ूरी मिलते ही राजधानी एक्सप्रेस की सौग़ात मिथिला के क्षेत्र के लोगों को मिलेगी। दरभंगा होकर राजधानी एक्सप्रेस के परिचालन की दशकों से लंबित चिरप्रतीक्षित मांग अब जल्द ही पूरी होगी। इसको लेकर तैयारी शुरू हो गई है, जहां नयी राजधानी एक्सप्रेस ट्रेनों को चलाये जाने की योजना के तहत इन ट्रेनों का परिचालन उत्तर बिहार में दरभंगा के रास्ते किया जायेगा।

एयरपोर्ट की सफलता ने खोली राह

न्यू जलपाइगुड़ी के रास्ते चलाई जाने वाली नयी राजधानी एक्सप्रेस दरभंगा-सीतामढ़ी-नरकटियागंज के रास्ते दिल्ली तक का सफ़र तय करेगी। जहां मौजूदा डिब्रूगढ़ राजधानी एक्सप्रेस की तुलना में दरभंगा-सीतामढ़ी-नरकटियागंज रूट से चलने वाली राजधानी एक्सप्रेस से यात्रियों को तीन घंटे कम लगेंगे। हाल के वर्षों तक रेलवे द्वारा आमान परिवर्तन सहित कई कारण बता कर दरभंगा-नरकटियागंज रेलखंड को राजधानी एक्सप्रेस के परिचालन के लिए उपयुक्त नहीं बताया जाता है, पर दरभंगा-नरकटियागंज आमान परिवर्तन कार्य के साथ ही इस रूट के विद्युतीकरण के बाद रेलवे बोर्ड को यह प्रस्ताव मंडल कार्यालय द्वारा भेजा गया है। वही इसके अलावा दरभंगा एयरपोर्ट की सफलता ने भी दरभंगा हो कर राजधानी एक्सप्रेस की राहें खोली है।

अन्य रेल लाइन के मुकाबले कम दूरी

बताते चलें की दरभंगा एयरपोर्ट देश भर में उड़ान का नंबर -1 एयरपोर्ट बन कर उभरा है। जहां ना सिर्फ़ यात्रियों के मामले में दरभंगा एयरपोर्ट ने कई बड़े एयरपोर्ट के पीछे छोड़ा है, वही दरभंगा से दिल्ली के बीच दो जोड़ी फ़्लाइटों का परिचालन भी हो रहा है। यात्रियों की इसी संख्या को देखते हुए रेलवे ने पहली बार उत्तर बिहार में दरभंगा के रास्ते राजधानी एक्सप्रेस का परिचालन का प्रस्ताव तैयार किया है।

दरभंगा-नरकटियागंज रेलखंड की बात करें तो रास्ता दरभंगा को सीतामढ़ी-रक्सौल के रास्ते गोरखपुर से कनेक्टिविटी देता है। जो की मौजूदा अन्य रेल लाइनों के मुक़ाबले कही कम दूरी का है। जिसका फ़ायदा इस होकर चलाई जाने वाली राजधानी एक्सप्रेस को मिलेगा।

समय की होगी बचत

मालूम हो कि डिब्रूगढ़ राजधानी जहां क़रीब 42 घंटा का सफ़र तय कर नई दिल्ली पहुँचती है। वही प्रस्तावित राजधानी से पूर्वोत्तर भारत से नयी दिल्ली तक का सफ़र 39 घंटे में ही पूरा हो सकेगा। वही दरभंगा सहित उत्तर बिहार की बात करे तो इसके परिचालन से लोगों को नयी दिल्ली तक के सफ़र के लिए राजधानी एक्सप्रेस का विकल्प उपलब्ध होगा। जिससे लोगों की समय की बचत होगी, वही इसके अलावा कई सालों से उपेक्षित दरभंगा-नरकटियागंज रेल खंड भी अपनी गौरवमयी इतिहास को फिर से प्राप्त करेगा।