दिव्यांगता की मार झेल रही जीरादेई प्रखंड के बंथुश्रीराम की प्रियांशु की मदद को बालीवुड एक्टर सोनू सूद भी आगे आए हैं। उन्होंने शुक्रवार को अपने एक ट्वीट में कहा कि, ‘चलिए, अब दोनों पैरों से नई शुरुआत करें, सामान बांधिए प्रियांशु। सोनू सूद के इस ट्वीट से प्रियांशु के जीवन की नई किरण दिखाई दी है। हालांकि वह और उसके स्वजन इस ट्वीट से बेखबर थे। दैनिक जागरण ने 30 जून के अंक में ‘प्रियांशु के हौसले को देख शर्मा गई दिव्यांगता, एक पैर से दो किलोमीटर चलकर जाती स्कूल’ शीर्षक से प्रमुखता से समाचार प्रकाशित कर उसकी समस्याओं की तरफ शासन-प्रशासन और समाजसेवियों का ध्यान आकृष्ट कराया था।

इस खबर में प्रियांशु को एक पैर से विद्यालय पढ़ने जाने में हो रही परेशानी को सामने लाते हुए ‘मदद को कोई तो आगे आए’ कालम में सोनू सूद का ध्यान भी इस तरफ आकृष्ट कराया था। उसमें लिखा गया था कि प्रियांशु को इस समय सोनू सूद जैसे लोगों की मदद की जरूरत है। यह समाचार प्रकाशित होने के अगले दिन ही सोनू सूद ने यह ट्वीट किया है। यह संदेश जैसे ही चर्चा में आया सभी दैनिक जागरण की सराहना करने लगे। इस बारे में प्रियांशु के माता-पिता से संपर्क कर उन्हें इसकी जानकारी दी गई तो उनके चेहरे पर मुस्कान आ गई। उन्होंने दैनिक जागरण का आभार व्यक्त किया।

बता दें कि जीरादेई प्रखंड के बंथु श्रीराम गांव निवासी प्रेम सागर चौहान की 11 वर्षीय पुत्री एक पैर से दिव्यांग है। वह एक पैर से चलकर दो किलोमीटर दूरी स्थित विद्यालय में पढ़ने जाती है। उसने पढ़-लिखकर डाक्टर बनने का सपना पाला है। प्रियांशु के विद्यालय के शिक्षक राजन कुमार चौबे भी दिव्यांग हैं।

उन्होंने प्रियांशु की प्रतिभा देख उसे अपने विद्यालय में नि:शुल्क नामांकन दिया। वे प्रियांशु को किताब, कापी, पेंसिल नि:शुल्क उपलब्ध कराते हैं। वे कहते हैं कि वे और उनके विद्यालय के सभी शिक्षक प्रियांशु की हर संभव मदद करते हैं ताकि डाक्टर बनने का उसका सपना साकार हो सके।