गोपालगंज. बिहार में अभी शादियों का सीजन चल रहा है। चारों तरफ बैंड-बाजा और बारात देखने को मिल रहा है लेकिन हम जो शादी आपको दिखा और बता रहे हैं वो जरा हट के है। अब आप सोच रहे हैं कि आखिर शादी में दुल्हा है, दुल्हन है, जश्न है तो नया क्या है। तो चलिए हम आपको बता रहे हैं कि शादी कुछ हट के है। कहा जा रहा है कि ये गोपालगंज के पहली शादी है जिसमें सात समंदर पार कर दुल्हनियां अपने प्यार को पाने के लिए गोपालगंज पहुंची है।

शादी के मंडप में दिख रही दुल्हनिया फिलीपींस में पली बढ़ी पढ़ी वेलमुन डुमरा है। डुमरा को न तो हिंदी आती है न ही हिंदू धर्म के रीति रिवाज का पता है फिर भी वो अपने प्यार की खातिर बिहारी प्रेमी धीरज प्रसाद के साथ हिंदू रीति-रिवाज और पूरे विधि-विधान के साथ शादी रचाई।

विदेशी महिला से शादी रचाने वाले धीरज प्रसाद गोपालगंज जिले के फुलवरिया प्रखंड के मुरार बतराहा गांव के रहने वाले हैं। दोनो लड़का-लड़की फिलीपींस में नौकरी करते हैं। लड़का होटल मैनेजर एवं लड़की मार्केटिंग डीलर है।

फिलीपिंस की वेलमुन डुमरा ने अपने बिहारी प्रेमी धीरज प्रसाद के साथ हिंदू रीति-रिवाज और पूरे विधि विधान से साथ 18 मई की रात में मुरार बतराहा गांव में शादी रचाई। इस शादी को लेकर इलाके में खूब चर्चा हो रही है।

परिजनों के मुताबिक वेलमुन डुमरा अपनी शादी में स्पेशल वीजा लेकर भारत आई हैं।उनके माता-पिता को वीजा नहीं मिल पाने से जिसके चलते शादी में शरीक नहीं हो पाए। धीरज प्रसाद के परिवार वाले और गांव वाले शादी से बहुत खुश हैं।