हिंदू धर्म में हर देवी देवता का अपना महत्व है. उनके अनुसार सप्ताह के सातों दिन में से अलग-अलग दिन किसी न किसी देवी देवता को समर्पित किया गया है. उन्हीं में से एक है शनि देव. हम सभी शनि देव को न्याय के देवता के रूप में जानते हैं. शनिवार का दिन शनि देव को समर्पित किया गया है. इस दिन शनिदेव की पूजा-अर्चना का विधान है. ऐसा माना जाता है कि इस दिन शनि देव की पूजा करने से शुभ फलों की प्राप्ति होती है और जीवन में आए संकट दूर होते हैं. धार्मिक पुराणों के अनुसार कुछ ऐसी चीजें हैं जिनको शनिवार के दिन करने से बचना चाहिए, नहीं तो आप शनि देव के क्रोध के भागी बन सकते हैं.तो चलिए जानते हैं कौन सी है वह बातें जिनका शनिवार को विशेष ध्यान रखना चाहिए.

जूते और चप्पल न खरीदें
शास्त्रों में कहा गया है कि शनिवार के दिन किसी भी व्यक्ति को जूते या चप्पल नहीं खरीदना चाहिए. इससे शनि देव नाराज हो जाते हैं. हां इस दिन जूते और चप्पल आदि को आप किसी जरूरतमंद व्यक्ति को दान जरूर कर सकते हैं. ऐसा करने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं.

-लोहे का सामान न खरीदें
लोहे का दान करने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं, लेकिन यदि आप शनिवार के दिन लोहा खरीदते हैं तो आपको शनि देव की वक्र दृष्टि का सामना करना पड़ सकता है. शनिवार के दिन भूलकर भी लोहा या ऐसी वस्तु जिसमें लोहा लगा हुआ हो नहीं खरीदनी चाहिए.

नमक खरीद कर न लाएं घर
नमक का इस्तेमाल हम सभी के घरों में होता है, लेकिन शनिवार के दिन नमक खरीदना और उसे घर लाना शनि देव को क्रोधित कर सकता है. हिंदू शास्त्रों के मुताबिक शनिवार के दिन नमक खरीद कर घर लाने से आप कंगाल हो सकते हैं. इसके अलावा शनिवार के दिन किसी और से नमक उधार भी नहीं लेना चाहिए.

नहीं काटने चाहिए बाल और नाखून
शनिवार के दिन अक्सर कई लोगों की छुट्टी वाला दिन होता है. इसीलिए इस छुट्टी वाले दिन में लोग अपनी दाढ़ी और बाल कटवा लेते हैं, लेकिन शनिवार के दिन ऐसा करना सही नहीं माना जाता, इसके अलावा शनिवार के दिन नाखून काटने से भी बचना चाहिए, शनिवार के दिन आप ऐसा करते हैं तो आप पर शनि देव की वक्र दृष्टि पढ़ सकती है.