बिहार से शिक्षा विभाग की टीम दिल्ली जाकर अरविंद केजरीवाल के मॉडल को देखेगी. शिक्षा मंत्री का पदभार लेने के बाद चंद्रशेखर ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर यह बात कही. उन्होंने कहा कि शिक्षा में सुधार लाने के लिए हर संभव प्रयास किया जाएगा. दिल्ली में सरकारी स्कूलों की शिक्षा का स्तर बहुत अच्छा है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) का शिक्षा मॉडल सराहनीय कदम है. इसके लिए हम लोगों ने अधिकारियों से बातचीत की है. केजरीवाल के शिक्षा मॉडल को हम लोग जाकर देखेंगे. हर संभव प्रयास होगा कि बिहार में भी केजरीवाल मॉडल (Kejriwal Model) पर शिक्षा में काम किया जाए.

शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर ने कहा कि साथ में सिमुलतला मॉडल को भी हम लोग देखेंगे. उन्होंने केजरीवाल मॉडल पर कहा कि दुनियाभर से लोग वहां आ रहे हैं तो हम जरूर देखेंगे. कुछ ना कुछ तो है. शिक्षा मंत्री ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा जिनको नफरत पढ़ाना है वह पढ़ाएं, हमें मोहब्बत पढ़ाना है, जिनको संप्रदायवाद पढ़ाना है वो पढ़ाएं, हमें ग्लोबल जस्टिस पढ़ाना है.

जल्द होगी अधिक से अधिक शिक्षकों की बहाली

समान काम, समान वेतन की बात पर शिक्षा मंत्री ने कहा कि जो शिक्षक वर्ग संचालित कर अच्छे ढंग से पढ़ाएंगे उनको रिजल्ट मिलेगा और उनका वेतन भी उसी अनुसार होगा. शिक्षकों की बहाली को लेकर आंदोलन कर रहे अभ्यर्थियों पर कहा कि मुख्यमंत्री सरकारी नौकरी देने को लेकर चिंतित हैं. मुख्यमंत्री ने स्वतंत्रता दिवस पर घोषणा भी की है कि जल्द ही ज्यादा से ज्यादा बहाली होगी. यह कह देना कि अभी तुरंत हो जाए यह अभी संभव नहीं है, लेकिन जल्द ही रिक्त पदों को भरा जाएगा. एक सवाल पर कि वह सिस्टम कब आएगा जब सरकारी कर्मचारी, मंत्री और विधायक भी अपने बच्चों को सरकारी स्कूल में पढ़ाएंगे इस पर कहा कि हम लोग जल्द विचार करेंगे.