जमालपुर में नया रेलवे टनल बनकर लगभग तैयार हो चूका है। यह रेलवे टनल ऑस्ट्रेलियाई तकनीक पद्धति से बनाया गया है। इस नए टनल के बनने के बाद राजधानी एक्सप्रेस भागलपुर होकर भी आसानी से गुज़र सकेगी। इस नए टनल की मदद से पटना और भागलपुर के बीच की यात्रा समय भी काफी कम हो जायेगी। आपको बता दें की बिहार का सबसे पहला रेलवे टनल जमालपुर में अंग्रेज़ों के ज़माने में बनाया गया था। नई सुरंग पुरानी सुरंग से 15 फीट की दूरी पर है।

जमालपुर रतनपुर स्टेशनों के बीच बन रहा है यह रेल टनल

जमालपुर रतनपुरा स्टेशनों के बीच बन रहा यह रेल टनल पुरानी रेल टनल से चौड़ी है और इसमें यात्रियों के पैदल चलने की व्यवस्था की गई है। इस सुरंग के बुनियादी ढांचे का काम खत्म होने के बाद रेलवे ट्रैक को बिछाने का काम जल्द ही शुरू किया जाएगा। खबरों की मानें तो नवंबर के अंत तक इस सुरंग को पूरी तरह से तैयार कर दिया जाएगा। सुरंग चालू होने के बाद क्यूल से मालदा तक दूसरे 76 किलोमीटर का रेलवे ट्रैक पूरी तरह डबल हो जाएगा। इसमें सुरंग की लंबाई 906 फीट और ऊंचाई 20 फीट है।

भारतीय पूर्व रेलवे का ड्रीम प्रोजेक्ट है यह टनल

भारतीय पूर्व रेलवे के डीआरएम यतेंद्र कुमार ने बताया की यह टनल पूर्व रेलवे कोलकाता का ड्रीम प्रोजेक्ट है और हम सब इसे जल्द से जल्द चालू करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। नवंबर दिसंबर तक उम्मीद है कि यह टनल पूरी तरह से बन जाएगा। दिसंबर में रेल संरक्षा आयुक्त की टीम इसकी जांच करने आएगी, जांच में सभी चीजें अच्छी होने के बाद यथाशीघ्र ही इस टनल में परिचालन शुरू कर दी जाएगी।

आपको बता दें कि यह नया टनल ऑस्ट्रेलियाई तकनीक से बनाया जा रहा है जिससे कि यह टनल ज्यादा मजबूत हो सके और साथ ही इस चैनल की चौड़ाई बढ़ाई जा सके। साथ ही साथ इस चैनल में रेल पटरी के दोनों तरफ लोगों के पैदल चलने की भी सुविधा होगी।