पटना. बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने बुधवार को राजधानी पटना (Patna) में सेकंड ईयर इंडिया समिट 2022 का उद्घाटन किया. सीआईआई (CII) की तरफ से आयोजित इस समिट में तेजस्वी ने कहा कि पहले की सरकार में सिर्फ बैठक होती थी, इसका कोई नतीजा नहीं निकलता था. बिहार में जनसंख्या अधिक है, यह सब जानते हैं. यहां अगर संसाधन दिया जाए, बिजली दी जाए तो फिर यहां निवेशकों को भी फायदा होगा. वो जो बनाएंगे उसे यहीं पर खपा (खपत) सकते हैं. उन्होंने कहा कि बिहार में सोच बदलने की जरूरत है. सोच बदलते ही राज्य में निवेशक आएंगे. तेजस्वी ने पूर्ववर्ती सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि पिछली सरकार में लोगों ने यह माहौल बनाया था कि सरकार ठीक नहीं है. मगर अब मजबूत सरकार बनी है. नई सरकार बनी है इसलिए निवेशक आएंगे.

तेजस्वी यादव ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि अभी सरकार बने कुछ ही दिन हुए हैं, लेकिन लोग गलत माहौल बना रहे हैं कि जंगलराज (Jungle In Bihar) आ गया है. राज्य में रातों-रात जंगलराज आ जाना, इसकी गलत धारणा लोगों के मन में बिठाई जा रही है. उन्होंने कहा कि निवेशक खुद बिहार का माहौल देखें. बिहार का अपराधिक डाटा है, उसको भी देखिए. अपराध के मामले में बिहार पूरे देश में 21वें स्थान पर है. लोगों के बीच यहां गलत अवधारणा बनाई जा रही है. इस पूरे मामले को सुधार की जरूरत है. जो भी समस्याएं हैं उनको जल्द से जल्द दूर किया जाएगा.

‘हमलोग सरकारी नौकरी भी देंगे और रोजगार भी देंगे’

डिप्टी सीएम ने युवाओं को 10 लाख सरकारी नौकरी देने के अपने चुनावी वादे पर कहा कि रोजगार और सरकारी नौकरी में अंतर है. हमलोग सरकारी नौकरी भी देंगे और रोजगार भी देंगे. लोगों को बाहर नहीं जाना पड़ेगा. उन्होंने कहा कि बिहार में जो भी संसाधन है उसका उपयोग किया जाएगा.

तेजस्वी यादव ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि रोजगार देश की बड़ी समस्या है, लेकिन लोग इसपर चुप हैं. जीएसटी और नोटबंदी पर कुछ नहीं बोल रहे हैं, और जो इस पर बोलते हैं सरकार के तंत्र उनको परेशान करते हैं.