नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव आज अपने विधानसभा क्षेत्र वैशाली के राघोपुर पहुंचे. मुलेठी वाला पान खाने के शौकीन तेजस्वी यादव यहां पहुंचने पर खुद को रोक नहीं पाए. और खींचे-खींचे पान की दुकान पर मुलेठी वाला पान खाने पहुंच गए. राघोपुर पहुंचने के बाद उन्होंने कई कार्यक्रमों में शिरकत की. जिसमें कई वैवाहिक कार्यक्रम में भी शामिल हुए. वहीं स्थानीय लोगों से मिलकर उनका और क्षेत्र का हलचल जाना.

राघोपुर में लोगों से मुलाकात के दौरान जब तेजस्वी यादव बाजार से गुजर रहे थे तो वैशाली के राघोपुर के विदुपुर में वह एक पान दुकान पर रुक गए और वहां अपना पसंदीदा मुलेठी वाला पान खाया. इस दौरान तेजस्वी के साथ आरजेडी विधयक मुकेश रौशन और वैशाली से ही आरजेडी एमएलसी प्रत्याशी सुबोध राय भी थे. तेजस्वी ने आगामी एमएलसी चुनाव में लोगों से आरजेडी प्रत्याशी को सहयोग करने की अपील भी की.

बता दें कि इससे पहले भी तेजस्वी यादव एक बार पटना के राजधानी पान दुकान जो मौर्या लोक में स्थित है वहां जब रुके थे तो उन्होंने खुद बताया था कि मैं मुलेठी वाला पान खाना पसंद करता हूं. उससे गला साफ रहता है. दरअसल तेजस्वी भी अपने पिता लालू यादव की तरह पान खाने के शौक़ीन हैं. लालू यादव भी पान खाने के खूब शौक़ीन थे. इसके कई मजेदार किस्से आरजेडी सुप्रीमो ने सुनाए हैं.

बतातें चलें कि रविवार को नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने जातीय जनगणना को लेकर एक बार फिर नीतीश सरकार पर निशाना साधा और सरकार की मंशा पर सवाल उठाए. उन्होंने नीतीश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर केंद्र सरकार ने जातीय जनगणना नहीं कराया तो बिहार सरकार अपने खर्च पर जातीय जनगणना कराएगी. लेकिन अब सरकार की मंशा ठीक नहीं लग रही है. बिहार में जातीय जनगणना कराये जाने को लेकर तेजस्वी यादव ने यहां तक कह दिया कि अगर बिहार में मेरी सरकार होती तो अबतक जातिगत जनगणना करा लिये होते, चाहे सरकार गिर जाती तो गिर जाती.