पिछले वर्ष राज्य में लक्ष्य के अनुरूप नेशनल हाईवे का निर्माण नहीं होने के बाद हाईकोर्ट ने एनएचएआई को रिपोर्ट तलब किया था। इसके अलावा बिहार के पथ निर्माण मंत्री श्री नितिन नवीन ने भी अधिकारियों को निर्देश दिए थे कि राज्य में नेशनल हाईवे के निर्माण कार्य में तेजी आनी चाहिए। इसी के तहत अब राज्य में करीब 94 किलोमीटर लंबाई में नेशनल हाईवे निर्माण के लिए इसी महीने टेंडर जारी कर दिया जाएगा।

इन सड़कों के लिए जारी होगा टेंडर

बता दें कि सिवान- मशरक एनएच- 227A ( राम जानकी मार्ग) के लिए 51.85 किलोमीटर लंबाई में टेंडर जारी होना है। इसकी अनुमानित लागत करीब 1351 करोड़ रुपए है। साथ ही मानिकपुर साहिबगंज एनएच-139W के लिए 42.80 किलोमीटर लंबाई में टेंडर जारी होना है। इसके लिए लगभग 1000 करोड़ रुपए है। इसके अलावा सहरसा उमा गांव एनएच – 527A पैकेज 1 और 2 का करीब 62 किलोमीटर लंबाई में निर्माण होना है। इसके लिए अगले महीने तक निर्माण एजेंसी का चयन होने की संभावना है। अगले कुछ महीनों में तीनों सड़कों का करीब 156 किलोमीटर लंबाई में निर्माण शुरू होने की संभावना है।

फोर लेन होगा पूरा राम जानकी मार्ग

सूत्रों के मुताबिक राज्य में करीब 240 किलोमीटर की लंबाई में बन रहे राम जानकी मार्ग में से सिर्फ 90 किलोमीटर की फोरलेन मानक के अनुरूप है शेष 150 किलोमीटर 2 लेन सड़क के रूप में प्रस्तावित है। केंद्र सरकार से 150 किलोमीटर की लंबाई को भी फोरलेन किए जाने का प्रस्ताव दिया गया था इस पर केंद्र की अनुमति मिली है और पूरा 240 किलोमीटर लंबी राम जानकी मार्ग चार लेन की होगी।