जब किसी प्रदेश में शिक्षित युवाओं और युवतियों को बागडोर मिलने की शुरुआत हो जाए तो इसका साफ संकेत है कि प्रदेश बदल रहा है। बिहार के शिवहर प्रखंड के कुशहर पंचायत से अनुष्का इस बार मुखिया चुनी गई है। शिवहर प्रखंड में अनुष्का सबसे कम उम्र की मुखिया चुनी गई हैं। हरियाणा से दसवीं की पढ़ाई और कर्नाटक से ग्रेजुएशन पास करने के बाद अनुष्का बिहार अपने गांव पंचायत चुनाव लड़ने के लिए आई और पहले ही प्रयास में वह कुशहर पंचायत की मुखिया चुनी गई।

इस बार हो रहे पंचायत चुनाव में आने वाले नतीजे इस बात की पुष्टि कर रहे हैं कि अब बिहार शिक्षित और नवयुवक एवं नव युवतियों को सत्ता में बड़े पैमाने पर भागीदार बनाने का मन बना लिया है। भ्रष्टाचार से मुक्ति पाने की तमन्ना रखते हुए बिहार के हर कोने से शिक्षित उम्मीदवारों को चुनने कि शुरुआत हो चुकी है। इस बार पंचायत चुनाव में 70 से 80 फ़ीसदी नए लोगों को मौका मिल रहा है। पुराने जीते हुए उम्मीदवार इस बार बड़े मात्रा में हार का सामना कर रहे हैं। यह रिजल्ट बताता है कि अब बिहार में भ्रष्टाचार में लिप्त लोगों का गुजारा नहीं चलने वाला है।

माननीय मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार बिहार में महिला सशक्तिकरण की बात हमेशा करते हैं। बिहार के सत्ता में महिलाओं की भागीदारी के लिए नीतीश सरकार ने अनेकों विभिन्न तरह के योजनाओं को लाया है। 21 वर्ष की अनुष्का ने मुखिया पद पर निर्वाचित होकर नीतीश कुमार के महिला सशक्तिकरण की बात को सही साबित करने की दिशा में अच्छा कदम बढ़ाया है। अनुष्का के जीत के बाद अनेकों ऐसी लड़कियां या महिलाएं जो सत्ता में भागीदार बनना चाहते हैं उन्हें आगे बढ़ने की प्रेरणा मिलेगी।