अगर कोई आप से पूछे बिहार में का बा! तो एक जवाब यह भी मिल सकता है- सोना बा सोना। पटना के रहने बाले और सोने से लदे प्रेम सिंह का जवाब पक्का तो यही होगा। और हो भी क्यों ना, क्यूंकि बह अपने गोल्ड शौक की बजह से खुद “गोल्डमैन ऑफ बिहार” जो कहलाते है। तो आइये आज हम आपको बताते है “गोल्डमैन ऑफ बिहार” की पूरी कहानी।

गोल्डमैन ऑफ बिहार पहनते हैं 1.75 करोड़ की ज्वेलरी!

बिहार में आमतौर पर चोर और लुटेरों के भय से लोग 100 ग्राम सोने के गहने भी लॉकर में रखते हैं। लेकिन पटना के रहने वाला 38 वर्षीय प्रेम सिंह अपने शरीर पर लगभग दो किलो सोने का जेवर पहनकर सड़कों पर घूमते दिख जायेंगे। जिसकी अनुमानित कीमत करोडो में है। वैसे तो प्रेम सिंह पेशे से ठेकेदार हैं, लेकिन अपनी ठेकेदारी की आय का एक बड़ा हिस्सा प्रेम सिंह आभूषण खरीदने में खर्च करते हैं। प्रेम सिंह बताते हैं कि जब वे 20 साल के थे तब से ही उन्हें सोने के गहने पहनने का शौक है। टीवी और न्यूज़ पेपर में बह सोने से लदे लोगो को देखा करते थे, बस यंही से उन्हें “बिहार का गोल्डमैन” बनने का शौक चढ़ा।

आज प्रेम सिंह करोडो की ज्वेलरी पहन कर जब भी किसी रास्ते से गुजरते है तो लोग उनके साथ सेल्फी लेने को आतुर हो जाते है। लोग उन्हें बिहार का गोल्डमैन कहकर भी बुलाने लगे है। प्रेम सिंह का कहना है जैसे-जैसे आय बढ़ती है, वैसे वैसे शरीर पर सोना का वजन बढ़ाता है। जमींदार फैमली से आने वाले प्रेम सिंह ने बताया कि जितना भी सोना उन्होंने खरीदा है वो अपनी मेहनत की कमाई से खरीदा है। देखते ही देखते प्रेम सिंह अपने बदन पर डेढ़ किलो सोने का आभूषण पहनने लगे। इस आभूषण में सोने की चेन से लेकर ब्रेसलेट सभी चीजें शामिल हैं।

आपको बता दे, प्रेम सिंह के गले में 17 सोने की चेन, गले में “गोल्डमैन ऑफ़ बिहार” का लॉकेट, हाँथ में 6 सोने के ब्रेसलेट और अंगुलियों में 8 सोने की अँगूठिया, जिसमे हीरे भी जड़े हुए है। साथ ही उनका एप्पल फोन भी गोल्ड प्लेटेड है। और प्रेम सिंह के गले में हनुमान का एक बड़ा सा लॉकेट है। वे बताते हैं कि सबसे पहले उन्होंने ये लॉकेट ही खरीदी थी। सच पूछा जाए तो प्रेम सिंह चलते-फिरते इंसान की बजाय आभूषण की दुकान नजर आते हैं।

मीडिया की एक रिपोर्ट अनुसार, बिहार के हाजीपुर में स्थित गोल्ड फाइनेंस कंपनी “मुथूट फाइनेंस” के दफ्तर में 23 नवम्बर 2019 को डकैती पड़ी थी। जंहा 8 बदमाशों ने मिलकर लगभग 55 किलो गोल्ड लूट लिया था। यानी उस दौरान की गोल्ड कीमत के अनुसार यह लूट लगभग 20 करोड़ रूपये की थी। इसके बाद, इसी गैंग ने 6 फरबरी को मुजफ्फरपुर की मुथूट फाइनेंस बैंक में लूट की। जंहा से लुटेरों ने लगभग 33 किलो सोना मात्र 25 मिनट में लूटकर पूरे देश में हड़कंप मचा दिया था। इसके बाद ही इन बारदातो को देश की सबसे बड़ी गोल्ड लूट कहा जाने लगा।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, बिहार के जमुई जिले में देश का सबसे बड़ा गोल्ड भंडार मिला है। जंहा जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ़ इंडिया ने 22.28 करोड़ टन प्राइमरी गोल्ड मेटल डिटेक्ट किया है। यानी देखा जाए तो देश में कुल 50.18 करोड़ टन प्राइमरी मेटल गोल्ड है, जिसका 44 फ़ीसदी हिस्सा अकेले जमुई में पाया गया है। आपको बता दे, यह जानकारी खुद केंद्रीय खनन मंत्री ने दिसंबर 2021 में लोकसभा में दी थी।