आजकल सोशल मीडिया कब किसे चर्चा का विषय बना दे यह कोई नहीं जानता। कुछ महीने पहले कच्चा बादाम सिंगर भुवन सोशल मीडिया के ज़रिए ही काफी सुर्ख़ियों में आए थे। उनके गाने पर कई इन्फ़्लुएंसरों ने रील भी बनाए जो की काफ़ी वायरल भी हुए। अब सोशल मीडिया के ने रातों रात प्रियंका को ग्रेजुएट चायवाली से मशहूर कर दिया। आप सभी ने प्रियंका की संघर्ष भरी कहानी तो पढ़ी ही होगी।

प्रियंका ने एमबीए चायवाला से प्रेरित होकर अपना चाय का स्टार्ट अप शुरू किया था। प्रियंका ने अपने स्टार्टअप का नाम ‘ग्रेजुएट चाय वाली’ रखा था। सोशल मीडिया के कारण प्रियंका रातों रात सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो चुकी है। उनके पास चाय पिने वालों का ताँता लगा रहता है। वहीं अब बिहार के भागलपुर जिले के रहने वाले आयुष ने प्रियंका से प्रेरित होकर शर्बत का स्टार्टअप शुरू किया है।

पटना महिला कॉलेज के पास ग्रैजुएट चायवाली ने अपने स्टार्ट शुरू किया था, वहीं अब आयुष (शर्बत वाला) ने भी प्रियंका से प्रेरित होकर उनके स्टॉल के ठीक बगल में ही बैनर लगाकर शर्बत का स्टॉल लगा लिया है। ग़ौरतलब है कि जब आयुष शर्बत वाले ने प्रियंका (ग्रैजुएट चायवाली) के स्टॉल के पास अपनी शरब्त की दुकान लगाई थी तो वह मौजूद नहीं थी।

भागलपुर के रहने वाले आयुष ने बताया कि वह प्रियंका से ही प्रेरित होकर शर्बत का स्टॉल लगाया है। प्रियंका के टी स्टॉल के पास शर्बत स्टॉल लगाने का एक ही मक़सद है कि प्रियंका के सहारे थोड़ी पब्लिसिटी हो जाएगी। क्योंकि प्रियंका के पास लोग दूर-दूर से चाय पीने आते हैं, वह लोग भी मेरे काम को सराहेंगे।

आयुष शर्बत वाले ने बताया कि वह प्रियंका से प्रेरित होकर उनके बगल मैंने शर्बत का स्टॉल लगाया जो कि ग़लत है। लेकिन प्रियंका की वजह से अगर मुझे थोड़ी से पब्लिसिटी मिल जाएगी तो उनके व्यापार पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा, क्योंकि मैंने ठीक उन्हीं की तरह चाय का व्यापार नहीं किया है।

अगर मैं चाय का व्यापार करता तो इसे ग़लत समझा जा सकता था। मैं अगर उनसे प्रेरित होकर दूसरी जगह स्टॉल लगाता तो शायद मेरे पास लोग नहीं आते, लेकिन इनके पास लोग दूर-दूर से आते हैं तो मैंने सोचा इस मौक़े को भुना लूं। मुझे भी काम चाहिए था प्रियंका से प्रेरित होकर उन्हीं के बगल में स्टार्ट अप शुरू कर दिया ताकि मुझे भी थोड़ी पब्लिसिटी मिल जाए।