बिहार में इस बार होली और भी रंगीन होगी क्योंकि कोरोना (Coronavirus) का कहर अब नियंत्रण में आ गया है। बीते दो महीने कहर बरपाने के बाद कोरोना संक्रमण फिर एक बार खात्मे की ओर है। बिहार स्वास्थ्य विभाग (Bihar Health Department) की ओर से जारी आंकड़ों को देखे तो सूबे में बीते 24 घंटे में 50 नए मरीज मिले हैं। ऐसे में राज्य में अब कोरोना केवल 330 एक्टिव मरीज ही रह गए हैं।

21 जिलों में कोरोना के एक भी मामले नहीं 

वहीं, राज्य के 21 जिल ऐसे हैं जहां कोरोना के एक भी मरीज नहीं हैं। जबकि, बाकी के जिलों में इक्का दुक्का मरीज हैं। विभाग की ओर से मिली जानकारी अनुसार, बिहार की राजधानी पटना में कोरोना के सर्वाधिक 10 एक्टिव मरीज हैं। वहीं, अररिया में चार, अरवल, भोजपुर, बक्सर, दरभंगा, मधेपुरा, मुजफ्फरपुर, शेखपुरा, सीतामढ़ी, वैशाली, पश्चिमी चंपारण में एक-एक, कटिहार में तीन, नालंदा में छह, पूर्णिया में तीन, सहरसा में सात, सारण में चार और सीवान में तीन एक्टिव मरीज हैं।

मालूम हो कि दिसंबर के अंत से ही कोरोना संक्रमण ने तेजी से लोगों को अपनी चपेट में लेना शुरू कर दिया था। जनवरी आते-आते कोरोना की तीसरी लहर के आने का एलान कर दिया गया, जिसके बाद फिर एक बार प्रतिबंधों का दौर शुरू हुआ। स्कूल, कॉलेज, दफ्तर समेत अन्य जगहों को बंद कर दिया गया। बिहार में नाइट कर्फ्यू लागू किया गया। हालांकि, 40 से अधिक दिनों के प्रतिबंध के बाद बिहार में सभी प्रतिबंध हटा दिए गए हैं।जिंदगी वापस पटरी पर लौट गई है।