बिहार के आंगनबाड़ी केंद्रों में सेविका बहाली के नियमों के साथ-साथ आंगनबाड़ी केंद्र पर पढ़ने वाले गरीब बच्चों के पोषण आहार में भी बड़ा बदलाव होने वाला है. आंगनबाड़ी में पढ़ने वाले बच्चों को अब खाने में चिकेन बिरयानी के साथ साथ वेज बिरियानी भी दी जाएगी. इसके अलावा आंगनबाड़ी केंद्र में सेविकाओं की बहाली को सरल बनाते हुए सीधे योग्यता के आधार पर नियुक्ति होगी. सेविकाओं की नियुक्ति में मेधा अंक सूची देखा जाएगा और सीधे उसी के आधार पर उनकी बहाली की जायेगी.

इसकी जानकारी खुद बिहार सरकार के समाज कल्याण मंत्री मदन सहनी ने दरभंगा में खास बातचीत में दी. उन्होंने बताया की आंगनबाड़ी केंद्रों में सेविका की नियुक्ति आम सभा लगा कर की जाती थी. इसमें कई तरह की गड़बड़ी की शिकायत लगातार मिल रही थी, ऐसे में पूरी नियुक्ति प्रक्रिया को सरल बनाने के लिए कई संसोधन किये गए हैं. इसकी पूरी रुपरेखा तैयार की जा चुकी है. मदन सहनी ने बताया कि सेविका की नियुक्ति में पारदर्शिता के साथ-साथ अब सीधे योग्यता और मेधा अंक सूची के आधार पर चयन प्रक्रिया किया जाएगा.

इसमें किसी भी प्रकार की कोइ परीक्षा भी नहीं ली जायेगी. इसके अलावा मंत्री सहनी ने बताया कि आंगनबाड़ी केंद्रों पर पढ़ाई करने वाले बच्चों के पोषणाहार में भी बड़ा बदलाव किया जाएगा. अब बच्चों को वेज बिरियानी के साथ-साथ खास मौके पर चिकेन बिरियानी भी परोसा जायेगा. सप्ताह में सभी दिन अब बच्चों को अलग-अलग तरह के व्यंजन दिए जायेंगे. उन्होंने बताया कि बच्चों को एक ही प्रकार के भोजन देने से उनकी रूचि खाने में कम हो जाती है ऐसे में सभी दिन अब बच्चों को अलग-अलग स्वाद मिलेगा.