हिंदू पंचांग के मुताबिक ,कर्तिक मास के कृष्ण पक्ष के चतुर्थी तिथि के दिन करवा चौथ मनाया जाता है। करवा चौथ का व्रत सुहागन स्त्रियों के लिए बहुत खास होता है। इस दिन सुहागन स्त्रियां अपनी पति की लंबी आयु के लिए पूरे दिन निर्जला व्रत रखती है। इस दिन प्राचीन विधि विधान के साथ उपवास किया जाता है। उत्तर भारत के कई क्षेत्रों में इस दिन सुबह सूर्योदय से पहले सर्गही खाने की परंपरा है। करवा चौथ का व्रत शुरू करने से पहले सर्गही सुबह खाई जाती है। इसके बाद पूरा दिन निर्जला व्रत की कथा पढ़ी जाती है और शाम को चंद्रोदय होने पर चंद्रमा को अर्घ देकर व्रत खोला जाता है।

पंचांग के अनुसार 2021 का करवा चौथ का व्रत 24 अक्टूबर को रखा जाएगा

ज्योतिषाचार्य के अनुसार, इस बार चांद रोहिणी नक्षत्र में निकलेगा और व्रत का पूजन इस नक्षत्र में होगा। कार्तिक कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि 24 अक्टूबर 2021 रविवार सुबह 3:01 बजे पर शुरू होगी। यह तिथि अगले दिन 25 अक्टूबर को सुबह 5:30 बजे पर समाप्त होगी। करवा चौथ के दिन चांद निकलने का समय 8:11 बजे होगा। पूजन के लिए शुभ मुहूर्त 24 अक्टूबर दिन रविवार को शाम 6:55 बजे से लेकर 8:51 बजे तक रहेगा।

करवा चौथ की मान्यताएं

प्राचीन काल से ही करवा चौथ के व्रत का बहुत अधिक महत्व बताया जाता है। कहते हैं कि जो सुहागन स्त्रियां अपने पति के हित की कामना करते हुए इस दिन निर्जला व्रत रखती हैं उनके पति की लंबी उम्र होती है। इस दिन व्रत रखकर करवा चौथ की विशेष कथा भी पढ़ी जाती है। इस कथा में यह भी बताया गया है कि वृत्तीय स्त्रियों को इस दिन कैची चाकू आदि का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए और ना ही नाखून दिया बाल काटने चाहिए। मान्यता है कि जो स्त्रियां ऐसा करती है उनके पति पर इसका नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

बताया जाता है कि इस दिन जीव हत्या करने से पति के जीवन पर संकट आते हैं। इसलिए इस दिन किसी भी तरह की हिंसात्मक गतिविधियां करनी चाहिए। पूरा दिन रिती रिवाज का ध्यान रखते हुए करवा चौथ का व्रत करना चाहिए। इसके बाद जब चंद्रोदय हो तब चंद्रमा को अर्ध्य अर्पित करें। साथ ही पुष्प, अक्षत और मिठाई भी अर्पित करें और उनसे अपने सुहाग की लंबी उम्र की कामना करें। ध्यान रखें कि शाम के समय भी टूटा हुआ नहीं खाना चाहिए। माना जाता है कि जो इन मान्यताओं का पालन करते हुए व्रत पूर्ण करते हैं उन्हें सदा सौभाग्यवती रहने का वरदान प्राप्त होता है।

Source: Navbharat Times