समाजवादी पार्टी के मुखिया और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव का सोमवार को 82 साल की उम्र में निधन हो गया. मुलायम बीमारी के चलते गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती थे. ऐसे में प्रदेश में तीन दिन का राजकीय शोक का ऐलान किया गया है. इसके अलावा देशभर में भी नेताजी के निधन पर गम का माहौल है. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुलायम सिंह के पुत्र और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और उनके भाई रामगोपाल यादव से फोन पर बात की और संवेदनाएं व्यक्त की.

खबर है कि भीड़ के अनुमान को देखते हुए मुलायम सिंह का पार्थिव शरीर सीधे उनके पैतृक गांव सैफई लाया जाएगा.पार्थिव शरीर एक घंटे में सैफई के लिए बस से निकलेगा. सैफई में ही मंगलवार को दोपहर 3 बजे नेताजी का अंतिम संस्कार होगा. 

‘समाजवाद के प्रमुख स्तंभ एवं संघर्षशील युग का अंत हुआ’

सीएम योगी ने कहा- उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री समाजवादी पार्टी के संस्थापक श्री मुलायम सिंह यादव जी का निधन अत्यंत दुखदाई है. उनके निधन से समाजवाद के प्रमुख स्तंभ एवं संघर्षशील युग का अंत हुआ है. ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति की कामना एवं शोकाकुल परिजनों एवं समर्थकों के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं.

यूपी में 3 दिन के राजकीय शोक की घोषणा

उन्होंने आगे कहा कि श्री मुलायम सिंह यादव के निधन पर उत्तर प्रदेश सरकार 3 दिन के राजकीय शोक की घोषणा करती है. उनका अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ होगा. इसके अलावा देश के अन्य नेताओं ने भी नेताजी के देहांत पर दुख व्यक्त किया है.

बता दें कि नेताजी को यूरिन संक्रमण, ब्लड प्रेशर की समस्या और सांस लेने में तकलीफ के चलते पिछले दिनों गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उनकी तबीयत लगातार नाजुक बनी हुई थी. गौरतलब है कि वे तीन बार UPके सीएम रहे और वो केंद्र सरकार में रक्षा मंत्री भी रह चुके हैं. इसके अलावा मुलायम सिंह 8 बार विधायक और 7 बार लोकसभा सांसद भी चुने जा चुके हैं.