प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउवा के बीच आगामी दो अप्रैल को नई दिल्ली से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से नए जयनगर-जनकपुर/कुर्था रेल लाईन (Jaynagar-Janakpur Kurtha Rail Line) पर यात्री रेल सेवा (Passenger Train Service) का परिचालन को फिर से बहाल किए जाने की संभावना है.

बता दें कि भारत और नेपाल (India And Nepal) के बीच निर्माणाधीन जयनगर-बिजलपुरा-बर्दीबास रेल परियोजना के प्रथम चरण में जयनगर-जनकपुर/कुर्था रेलखंड जयनगर-बिजलपुरा-बर्दीबास (69.08 किमी) रेल परियोजना का एक भाग है.

रेल यात्रा करने से पहले रख लेंगे यह डॉक्यूमेंट
रेल सेवा प्रारंभ होने की स्थिति में भारत और नेपाल के बीच ट्रेन से यात्रा करने वाले भारतीय नागरिकों के लिए यात्रा के दौरान निर्धारित निम्नलिखित पहचान पत्रों में से कोई एक फोटो युक्त पहचान पत्र मूल रूप में रखना अनिवार्य होगा..

  • वैध राष्ट्रीय पासपोर्ट,
  • भारत सरकार/राज्य सरकार/केंद्र शासित प्रदेश के प्रशासन द्वारा अपने कर्मचारियों के लिए जारी फोटोयुक्त पहचान पत्र,
  • नेपाल स्थित भारतीय दूतावास/भारतीय महावाणिज्य दूतावास द्वारा जारी इमरजेंसी सर्टिफिकेट/आइडेंटिटी सर्टिफिकेट,
  • भारतीय चुनाव आयोग द्वारा जारी फोटो पहचान पत्र, एक परिवार के मामले में,
  • किसी एक वयस्क के पास उपर्युक्त 1 से 3 में वर्णित कोई एक दस्तावेज हो, तो अन्य सदस्यों को परिवार से उनके संबंध दर्शाने वाले फोटो युक्त पहचान पत्र जैसे सीजीएचएस कार्ड, राशन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, स्कूल/कॉलेज द्वारा जारी आईडी कार्ड इत्यादि हो तो उन्हें यात्रा करने की अनुमति दी जा सकती है।,
  • 65 वर्ष से अधिक और 15 वर्ष से कम आयु वर्ग के व्यक्तियों के पास उनकी उम्र और पहचान की पुष्टि के लिए फोटोयुक्त दस्तावेज। जैसे- पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, सीजीएचएस कार्ड, राशन कार्ड।