ट्रैफिक जाम होने के बाद या इस समस्या से बचने के लिए लोग गंगा दीघा से एलसीटी घाट तक अपनी गाड़ियों के दौड़ा रहे हैं. मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो गंगा पाथ वे पर गांधी मैदान तक जल्द ही गाड़ियों के परिचालन शुर हो जायेगा. क्योंकि इसके निर्माण का कार्य अंतिम चरण में हैं. ऐसी संभावना जताई जा रही है कि अगले हफ्ते तक गंगा पाथ वे पर दीघा से गांधी मैदान तक गाड़ियों को फर्राटा भरने का मौका मिल जायेगा.

फिलहाल लोग अपने वाहनों से दीघा से 3.25 किलोमीटर की दुरी तय करके एलसीटी घाट तक पहुंच रहे हैं. जिसके बाद डायवर्सन की मदद से राजापुर पुल पास महावीर वात्सल्य सामने से अशोक राजपथ पर निकल रहे हैं. बोरिंग रोड के तरफ जाने वाले वाहन चालक भी इसी रूट को फॉलो कर रहे हैं. मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो पाथ वे निर्माण कार्य को अगले दो सप्ताह में पूरा करने के टास्क निर्माण एजेंसी को मिला है. एजेंसी को यह टास्क बीएसआरडीसी के अधिकारियों ने दी है.

मौजदा समय में पाथ वे हो रहे निर्माण कार्यों की सूची इस प्रकार है:

  • जय प्रकाश सेतु से पूर्व दिशा की और 50 मीटर का गोलंबर बनाया जा रहा है.
  • राजापुर पुल पर टोल क्षेत्र के 500 मीटर की दूरी में ढलाई का काम चल रहा है.
  • एनएन सिन्हा इंस्टीट्यूट के तरफ जा रहे डायवर्सन पर गिट्‌टी-मोरम बिछाने काम चल रहा है.
  • पाथ वे को पीएमसीएच के पास कनेक्ट करने का काम चल रहा है.

एस कहा जा रहा है कि गंगा पाथवे से गांधी मैदान अगले सप्ताह तक जुड़ जायेगा. जिसके बाद दीघा से गांधी मैदान तक वाहनों का आवागमन शुरू हो जायेगा. आपको बता दें कि गंगा पाथ वे की लम्बाई दीघा से दीदारगंज तक 20.5 किलोमीटर है. पाथ वे के 10.2 किमी के हिस्से में स्लैब चढ़ाने का काम पूरा हो गया है.