बिजनौर। यूपीएससी टापर श्रुति शर्मा जिले के गांव बास्‍टा की मूल निवासी हैं। बुधवार को गृह जनपद पहुंचने पर उन्‍हें सम्‍मानित किया गया। इस दौरान उन्‍होंने कहा कि रैंक नहीं अपना लक्ष्य प्राप्त करना महत्वपूर्ण होता है।

अनुशासन से ही प्राप्त होती है सफलता

यूपीएससी टापर श्रुति शर्मा ने वर्धमान कॉलेज में आयोजित सम्मान समारोह में कहा कि रैंक हासिल करना नहीं, बल्‍कि अपने लक्ष्य को हासिल करना महत्वपूर्ण होता है। उन्होंने कहा कि छात्रों को अपना लक्ष्य पहले से ही निर्धारित कर लेना चाहिए और उसे हासिल करने के लिए दिन रात मेहनत करनी चाहिए। कोई भी परीक्षा हो, उसमें सफलता अनुशासन से ही प्राप्त होती है। कहा कि सभी अपनी तैयारी पर फोकस करें और पुराने प्रश्न पत्रों को देखते रहें। कार्यक्रम में श्रुति शर्मा को शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया गया।

डीएम ने किया सम्मानित 

डीएम उमेश मिश्रा ने बुधवार को संघ लोक सेवा आयोग मे प्रथम स्थान प्राप्त करने वाली जनपद निवासी श्रुति शर्मा को कलक्ट्रेट स्थित अपने कार्यालय कक्ष में बुके देकर व शॉल भेंट कर सम्मानित किया। उन्हें भगवान श्रीकृष्ण की प्रतिमा भेटं की। डीएम ने कहा कि आज युवतियां व महिलाएं हर क्षेत्र मे आगे बढ़ रही हैं। प्रदेश व देश का नाम रोशन कर रही है। उन्होंने श्रुति शर्मा को उनकी उपलब्धि पर बधाई दी व उनके उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं। डीएम ने उनके स्वजन को भी शॉल भेट कर सम्मानित किया। इस मौके पर सीडीओ केपी सिंह भी मौजूद रहे। 

इस बार बिजनौर की तीन बेटियों ने पाई सफलता

बिजनौर की तीन बेटियों ने इस बार यूपीएससी परीक्षा में सफलता पाई है। गांव बास्‍टा निवासी श्रुति शर्मा ने यूपीएससी टाप किया है, वहीं बिजनौर नगर निवासी स्मृति भारद्वाज की 176वीं रैंक है। कस्‍बा सहसपुर निवासी डा. शुमायला चौधरी ने 386वीं रैंक प्राप्त की है।