पटना: देशभर में पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से लोग परेशान हैं। रोजाना कीमतों में वृद्धि से लोगों की जेब पर अतिरिक्त भार पड़ रहा है। ऐसे में लोग राज्य सरकार की ओर टकटकी निगाह से देख रहे हैं कि राज्य सरकार ही कुछ राहत दे। लेकिन बिहार में फिलहाल ऐसा कुछ नहीं होने वाला। सूबे के मुखिया नीतीश कुमार ने साफ शब्दों में कह दिया है कि बिहार सरकार पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर कुछ नहीं कर पाएगी।

बिहार सरकार के पास संसाधन नहीं

जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम में शामिल होने के बाद मीडिया से मुखातिब हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने खुलकर कहा कि केंद्र से ही पेट्रोल-डीजल के दाम में वृद्धि की गई है। हो सकता है कुछ दिन के बाद स्थिति सामान्य हो जाए। लेकिन हम अभी कुछ नहीं कर सकते क्योंकि हमारे पास संसाधन नहीं है। हम अभी दाम में कटौती करने की नहीं सोच रहे। पहले हमने किया था। लेकिन बार-बार दाम में वृद्धि हो रही है। ऐसे में अभी इंतजार करने की जरूरत है।

संसाधन की कमी एक समस्या

बता दें कि केवल पेट्रोल डीजल ही नहीं अन्य योजनाओं को लेकर भी मुख्यमंत्री ने स्पष्ट कर दिया है कि बिहार सरकार के पास संसाधन की कमी है। इस कारण तेजी से काम नहीं हो पा रहा है। पत्रकारों से बात करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में फिलहाल कई प्रोजेक्ट चल रहे हैं। सभी में बड़ी राशि का खर्च हो रहा है। कई जगह और काम करने की योजना है, लेकिन संसाधन की कमी तो एक समस्या है।